होली बाजार में फीका रंग , कार्टून टैंक पिचकारियां व स्मोक ग़ुलाल ने मोहा मन

होली बाजार में फीका रंग , कार्टून टैंक पिचकारियां व स्मोक ग़ुलाल ने मोहा मन

व्यवसायियों में कोरोना का नही ,दिखा लॉकडाउन का दर्द

होली रंगबाजो के बाजार को दिखाती कमल शँकर मिश्र की खास रिपोर्ट

कानपुर रँगबाजो के शहर माना जाता है यहां के हटिया रंग बाजार का रंग व मेस्टन रोड बिसाती की पिचकारियां सिर्फ शहर भर में ही नही बल्कि यूपी भर के कई जिलों में जाती है पर इस बार होली के त्योहार के मद्देनजर बाजारों की रौनक फ़ीकी नजर आ रही है। रँगबाजार व विसाती बाजार में इस बार कोरोना से ज़्यादा लॉक डाउन का डर खासा देखा जा रहा है पिछले साल के मुताबिक इस वर्ष भी अन्य प्रदेशो में फैले कोरोना के बढ़ते मरीजो के चलते यूपी में भी लॉक डाउन के अनुमानित डर से होली की खरीददारी पर खासा असर दिखा ।
रंगों के पर्व होली के लिए बाजार पिचकारीयो और रंग गुलाल से गुलजार हो गए हैं तो वहीं इस बार विगत वर्षों की भांति व्यापार पर गहरा प्रभाव देखने को मिला है । कोरोनावायरस के चलते इस बार ग्राहकों में उत्साह खरीदारी को लेकर नहीं दिखाई दे रहा है फिर भी व्यापारियों को आस है कि होली तक हमारा व्यापार कुछ न कुछ रास्ते पर जरूर आएगा। आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते व्यापारियों और खरीदारों में संक्रमण का खौफ बना हुआ है आउटर से आने वाले लोग खरीदारी करने नहीं पहुंच पा रहे हैं जिसकी वजह से इस बार होली के रंग कहीं न कहीं व्यापारियों की नजर में फीका दिखाई दे रहा है। मेस्टन रोड स्थित पिचकारी की शॉप पर कुछ ऐसा ही हाल देखा गया जहां पर नाम मात्र की ग्राहकों की भीड़ दिखाई दी क्योंकि कहीं ना कहीं लोगों के मन में कोरोनावायरस का  डर बसा हुआ है ।वही दुकानदार का कहना है कि हर बार अच्छी खासी दुकानदारी होती थी मगर इस बार कोरोनावायरस की वजह से खरीदार जो आउटर से आता था वह बिल्कुल भी नहीं आ रहा है इक्का-दुक्का आ जाते हैं लेकिन माल उतना नही ले रहे है हालांकि इस बार भी होली बाजार में रंगों में सेंट हर्बल ग़ुलाल, स्मोक वराइटेड ग़ुलाल, व पिचकारियों में सिंगल डबल व मल्टी पाइप गन, ट्वाय टैंक के साथ साथ हेयर मास्क, फेरी मास्क की बेसुमार रेंज आयी है। जो रिटेल मार्केट में लोगो को खासी भा रही है , जो कि 8 रुपये से लेकर 500 रुपये तक मे उपलब्ध है। दुकानदार का कहना है कि कहीं ना कहीं इस बार हमारे व्यापार पर कोरोना का असर जरूर दिखाई दिया। फिर भी आस लगाए है कि कुछ न कुछ व्यापार जरूर होगा

Senior Reporter-Kamal Mishra

 

WhatsApp Image 2021-07-02 at 13.28.07
1