राष्ट्रीय शर्करा संस्थान ने किया अनुबंध

कानपुर नगर – सोमवार को राष्ट्रीय शर्करा संस्थान कानपुर द्वारा मेसर्स हाईड्रोनाटिकस के साथ मेंब्रेन आधारित गन्ना रस सांद्रण तकनीक के विकास हेतु समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया राष्ट्रीय शर्करा संस्थान के निदेशक नरेंद्र मोहन ने बताया कि पारंपारिक विधि में भाप वाली स्टीम के मदद से क्रवथन की प्रतिक्रिया किए जाने पर कुछ मात्रा में चीनी का क्षय होने के साथ-साथ उसमे रंग उत्पन्न होने की संभावना रहती है जिसे इस आधुनिक विधि में कम किया जा सकता है इसकी कार्यविधि व क्षमता के ऑल आंकलन के लिए दो चीनी कारखानों को वर्तमान पेराई सत्र के दौरान पाइलट प्लाण्ट स्तर पर इस तकनीक का परीक्षण किया जाएगा उन्होंने बताया कि समझौते के अनुसार प्रयोगिक इकाई ने लागत की भरपाई में सर हाइड्रोनाक्ट्रिक के द्वारा की जाएगी जिसमे संचालन के व्यय के साथ-साथ राष्ट्रीय शर्करा संस्थान कानपुर की तकनीकी परामर्श का शुल्क भी शामिल है

संवाददाता सुमित कुमार

WhatsApp Image 2021-07-02 at 13.28.07
1