व्यथित जनता की शिकायत पर एक्शन मोड में आये सांसद पचौरी – लापरवाह अधिकारियो की लगायी क्लास..

व्यथित जनता की शिकायत पर एक्शन मोड में आये सांसद पचौरी – लापरवाह अधिकारियो की लगायी क्लास..

– नमामि गंगे /अमृत योजना के तहत हुये सीवर लाइन कार्य में हुई लापरवाही पर बिफर पड़े….सांसद पचौरी..

– सिविल लाइन स्थित नंद गांव में आये दिन सीवर ओवर फ्लो की शिकायत पर सांसद पचौरी ने किया निरीक्षण…

– क्षेत्रीय जनता को समस्या के त्वरित समाधान का दिलाया भरोषा…

– नमामि गंगे /अमृत योजना जलनिगम सहित संबंधित विभागीय अधिकारियो की कल बुलाई बैठक

कानपुर 24 नवंबर । नमामि गंगे योजना /अमृत योजना के तहत भले ही अब गंगा की पवित्रता को बरकरार रखने के लिये शहर के सवा सौ साल पुराने नाले को गंगा में जाने से रोकने के लिए शासन स्तर पर किये गये प्रयत्नो पर करोडो खर्च के बावजूद भी जनता को इससे राहत मिलपाना मुमकिन नही दिख रहा है इस समस्या के स्थायी समाधान के बावत संबंधित बिभागीय अधिकारी चुप्पी साधे है है दरअसल गंगा में गिरने वाले 16 बड़े छोटे नालों को रोके जाने से उसका ओवरफ्लो शहर के मेंन होलो से होता है ओर ज़ब बारिस होती है तब यह समस्या अधिक बढ जाती है सिर्फ गलियों तक ही सिमित नही घरों तक में नाले का पानी भर जाता है। विगत पांच वर्षो से ऐसी ही समस्या से ज़ुझ रहें सिविल लाइन स्थित अम्बा नर्सिंग होम के सामने कचहरी रोड के नंद गांव व मधुवन गली के क्षेत्रीय लोगों द्वारा लोकसभा सांसद सत्यदेव पचौरी से शिकायत के जरिये कही थी जिसे तत्काल संज्ञान में लेकर उन्होने मौके पर वर्तमान हालत जानने के लिये सांसद पचौरी गुरुवार को निरीक्षण करने सिविल लाइन नंदगांव पहुंचे थे जहां उन्होने क्षेत्रीय जनमानस की बात सुनी ओर मौके पर हालत की सच्चाई देख कर नमामि गंगे व जलनिगम के अधिकारियो को लापरवाही के लिये फटकार भी लगायी। साथ ही क्षेत्रीय जनता को उक्त समस्या के त्वरित निराकरण का आश्वासन देकर कहा है की उक्त समस्या के समाधान का रास्ता निकाला जायेगा इसलिए शुक्रवार को सभी अधिकारियो की एक बैठक उन्होंने अपने कैम्प कार्यालय पर आहूत की है।

आपको बताते चले की सिविल लाइन स्थित कचहरी रोड पर रोड के बीचौबीच कानपुर डिस्ट्रिक्ट -1- परियोजना के अंतर्गत जोन 1 के वार्ड सिविल लाइन में एम जी चौराहा से गणेश उद्यान फूलबाग तक क्रमशः 1600 mm व 1800 mm व्यास की ब्रिटिश कालीन ब्रिक बैरल की डीसिल्टिंग का कार्य पूर्व में कराए जाने के बावजूद संबंधित विभाग व अधिकारियों की लापरवाही के चलते सिविल लाइन में सीसामऊ नाले का लगभग 60 एमएलडी प्रवाहित होता है वर्तमान में नियंत्रण इकाई परियोजना प्रबंधक तृतीय द्वारा उक्त लाइन का अमृत योजना के अंतर्गत कार्य कराया जा रहा है ( जिसकी लाइन डॉट नाले से जुडी है ) नाले का मेन कनेक्शन सीसामऊ नाले से जुडा हुआ है ओर कचहरी रोड के बीच पड़ी इसी डॉट लाइन से आसपास के मोहल्लो में सीवर लाइन व मेंनहोल कनेक्शन जॉइंट है जो की बारिस के आलवा भी आमदिनों में आये दिन ओवरफ्लो होकर गलियों व सड़को पर नदी का रूप लेलेता है बीते दिनों स्थानीय निवासी पवन अग्रवाल के शिकायती पत्र में उक्त समस्या से कराह रही जनमानस की व्यथा से द्रवित सांसद श्री पचौरी तत्काल एक्शन मोड में आये ओर गुरुवार को मौके पर निरीक्षण कर क्षेत्रीयजनता को त्वरित समाधान का अस्वासन भी दिया है..।

– जिसके लिये शुक्रवार को सांसद पचौरी ने अपने कैम्प कार्यालय में सभी संबंधित विभागीय अधिकारियो की बैठक आहूत की है।…

..जय हो नमामि गंगे —- लापरवाह अधिकारियों की नाकामी – का खामियाज़ा भुगतरहे है नंदगाँव व मधुवन गली के लोगों ने सांसद से कही आपबीती…

पवन कुमार माहेश्वरी ( नंद गाँव कालोनी क्षेत्रीय नागरिक ) –

इनका कहना है की ज़ब से नमामि गंगे परियोजना शुरू हुई और बेतरतीब ढंग से सीवर लाइन बिछायी गई जिसका खामयाज़ा आये दिन सीवर ओवरफ्लो होजाती है और गन्दा पानी घरों घुसने लगता है उस बिपरीत परिस्थिति में घरों में दुबकने को मजबूर हो जाते है न बाहर से कोई कन्वेंस आ पाता है और न ही हम जापाते है इसकी शिकायात संबंधित अधिकारियो व नगर निगम को कई बार कहने के बावज़ूद अधिकारीयों के कानो में ज़ू तक नही रेंगती…..है।

2- राशि गुप्ता (मधुवन होटल वाली गली )

क्षेत्रीय नागरिक… ने बताया की इसी गली में राज विला नाम से इनका मकान है 2018 से सीवर का काम शुरू हुआ तभी से इस कम्पाउंड के निवासी नमामि गंगे व जल निगम की लापरवाही का दंश भुगतने को मजबूर है आलम यह है की घरों में आये दिन सीवर का पानी घुस जाता है अधिकारियो व जिम्मेदारो ने ज़ब कई बार शिकायतों के बाद भी नही सुनी तो लिहाजा खुद ही घरों को इस मुशीबत से बचाने के लिये वैकल्पिक रास्ता निकालते हुये घरों के बाहर रैम्प व दीवार बनवानी पड़ी ताकि सीवर के गंदे पानी को घरों में घुसने से बचाया जासके… आज सांसद के आने पर उम्मीद ज़गी है की कोई तो सुनने वाला आगया…जो त्वरित समाधान का भरोषा देगया..।

3- एडवोकेट राघव नारायण तिवारी… क्षेत्रीय नागरिक…

– ने बताया की 2018 से सरकार की नमामि गंगे परियोजना व जल निगम की लापरवाही के चलते डॉट नाले के कनेक्शन को गली की तरफ मोड दिया… जिससे अब आलम यह है की जब बारिश नही होती है तो भी आएदिन गंदे नाली की नदी में घुटनो तक निकलने को मजबूर होते है और खुद ही घरों के आगे सीमेंटेड मेड रैम्प बनाकर घरों में दुबकने को मज़बूर है… कई बार शिकायत करने पर भी न नगर निगम न जलनिगम इस ओर ध्यान देरहा है सरकार का पैसा डकार गये सब अधिकारी….जिन पर कार्यवाही होनी चाहिए..।

4 यशपाल सिंह – क्षेत्रीय पार्षद… ने बताया की वर्ष 2018 में ज़ब से नमामि गंगे योजना के तहत सीसामऊ नाला इस लाइन में डाला तभी हम सभी का जीना दुसवार होगया सिविल लाइन की यह रोड अम्बा नर्सिंग होंम से लेकर कचहरी को जाती है प्रतिदिन हजारों राहगीर यहां से गुजरते है साथ ही यहां के स्थानीय निवासी भी इस बदबू दार नाले के पानी के बीच निकलने को मजबूर है कई बार कमिश्नर से लेकर संबंधित अधिकारियो को समस्या के बावत पत्र लिखने के बावजूद कोई सुनवाई नही होने पर आज सांसद श्री पचौरी को आमंत्रित करना पड़ा उन्होंने समस्या के त्वरित समाधान का अश्वासन दिया ओर अधिकारियो को फटकार लगाकर कल मीटिंग भी बुलाई है लगरहा है की उक्त समस्या से स्थानीय जनमानस को सार्थक समाधान मिलेगा..।

No Slide Found In Slider.